Chadariya Jhini Re Jhini Lyrics in Hindi & English –

This “Chadariya Jhini Re Jhini Lyrics” is very Popular Bhajan which is Created by Anup Jalota, and in this Bhajan he has given his Best Performance that’s why the Bhajan goes on hit.

This Bhajan is Purely Dedicated to Sant Kabir Das.

Bhajan Credits

SONGChadariya Jhini Re Jhini
SINGERAnup Jalota
LABELRd Ribbon Entertainment
LYRICISTSaint Kabir

Chadariya Jhini Re Jhini Lyrics in Hindi

कबीरा जब हम पैदा हुए,
जग हँसे,हम रोये ।
ऐसी करनी कर चलो,
हम हँसे,जग रोये ॥

चदरिया झीनी रे झीनी
राम नाम रस भीनी
चदरिया झीनी रे झीनी

अष्ट-कमल का चरखा बनाया,
पांच तत्व की पूनी ।
नौ-दस मास बुनन को लागे,
मूरख मैली किन्ही ॥
चदरिया झीनी रे झीनी…

जब मोरी चादर बन घर आई,
रंगरेज को दीन्हि ।
ऐसा रंग रंगा रंगरे ने,
के लालो लाल कर दीन्हि ॥
चदरिया झीनी रे झीनी…

चादर ओढ़ शंका मत करियो,
ये दो दिन तुमको दीन्हि ।
मूरख लोग भेद नहीं जाने,
दिन-दिन मैली कीन्हि ॥
चदरिया झीनी रे झीनी…

ध्रुव-प्रह्लाद सुदामा ने ओढ़ी चदरिया,
शुकदे में निर्मल कीन्हि ।
दास कबीर ने ऐसी ओढ़ी,
ज्यूँ की त्यूं धर दीन्हि ॥
के राम नाम रस भीनी,
चदरिया झीनी रे झीनी ।

Tagged : / / / / /